Enter your search terms:
Top

Social Presence

Like @

Facebook

Follow us on

Twitter

Give ❤ on

Instagram

Subscribe on

Youtube

Connect on

LinkedIn

Hire us

Connect

वाशिंगटनः अमरीका और उत्‍तर कोरिया में बढ़ते तनाव के बीच दोनों देशों के बीच जुबानी जंग तेज हो गई और बात हमले तक पहुंच गई। उत्‍तर कोरिया ने फिर अमरीका को मिसाइल हमले की धमकी दी है। मगर अमरीकी सुरक्षा अधिकारियों की मानें तो फिलहाल उत्‍तर कोरिया की ओर से हमले का कोई खतरा नहीं है। राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने कहा है कि अगर उत्‍तर कोरिया यूं ही अमरीका को धमकाना जारी रखेगा तो उसे ऐसे विध्‍वंस का सामना करना पड़ेगा, जिसे पूरी दुनिया ने पहले कभी नहीं देखा होगा।

इसके जवाब में उत्‍तर कोरियाई सेना का बयान सामने आ गया कि वह अमरीकी पैसिफिक क्षेत्र के गुआम द्वीप पर मिसाइल हमले की योजना बना रहे हैं बस किम जोंग के आदेश की देर है। हालांकि सीआईए निदेशक माइक पॉम्पियो ने मीडिया को दिए इंटरव्यू में कहा कि फिलहाल उत्‍तर कोरिया से हमले का खतरा नहीं है। मगर चेताया कि एक दशक पहले की तुलना में युद्ध की संभावना कहीं ज्‍यादा है। उन्‍होंने कहा, अमरीकी लोगों को यह जानना चाहिए कि ट्रंप प्रशासन इस खतरे से निपटने के लिए अपनी पूरी ताकत लगा रहा है। राष्‍ट्रपति ने खुफिया और रक्षा विभाग को अमेरिका की सुरक्षा सुनिश्चित करने को कहा है।

पॉम्पियो के अनुसार, ट्रंप जो कर रहे हैं, वे बेहद प्रभावी है। उत्‍तर कोरिया के तानाशाह नेता तक यह बात पहुंचा दी है कि अमरीका का ‘रणनैतिक धैर्य’ अब जवाब दे चुका है। गौरतलब है कि तमाम वैश्विक दबावों और प्रतिबंधों के बावजूद उत्‍तर कोरिया परमाणु कार्यक्रम को लेकर अपने रुख पर अड़ा हुआ है और लगातार मिसाइल परीक्षण कर रहा है। मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, ताजा परीक्षणों के जरिए उत्‍तर कोरिया अमेरिका तक अपनी पहुंच बनाने में सक्षम हो गया है।